मुश्किल समय में गेंदबाजों ने पाकिस्तान के खिलाफ धैर्य बनाए रखा : बुमराह

न्यूयॉर्क

 भारतीय तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह टी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में भारत के लिए तीसरे सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज बन गए हैं। बुमराह ने इस मामले में हार्दिक को पीछे छोड़ दिया है।

बुमराह ने यह उपलब्धि न्यूयॉर्क के नासाउ काउंटी इंटरनेशनल स्टेडियम में आईसीसी टी20 विश्व कप मुकाबले में पाकिस्तान के खिलाफ मैच में हासिल की। भारत ने यह मैच छह रन से जीता।

बुमराह ने मैच में 3.50 की इकॉनमी रेट से चार ओवर में सिर्फ 14 रन देकर तीन विकेट लिए। बुमराह ने कप्तान बाबर आजम, मोहम्मद रिजवान और इफ्तिखार अहमद के विकेट लिए।

बुमराह ने 64 टी-20 अंतरराष्ट्रीय में 18.67 की औसत और 6.44 की इकॉनमी रेट से 79 विकेट लिए हैं, जिसमें 3/11 का सर्वश्रेष्ठ आंकड़ा है। हार्दिक ने 94 टी-20 अंतरराष्ट्रीय में 4/16 के सर्वश्रेष्ठ आंकड़ों के साथ 78 विकेट लिए हैं।

टी-20 प्रारूप में भारत के लिए अग्रणी विकेट लेने वाले स्पिन अनुभवी युजवेंद्र चहल हैं, जिन्होंने 80 खेलों में 25.09 की औसत और 8.19 की इकॉनमी रेट से 6/25 के सर्वश्रेष्ठ आंकड़ों के साथ 96 विकेट लिए हैं। दूसरे स्थान पर भारत के स्विंग विशेषज्ञ भुवनेश्वर कुमार हैं, जिन्होंने 87 मैचों में 23.10 की औसत और 6.96 की इकॉनमी रेट से 90 विकेट लिए हैं, तथा उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 5/4 रहा है।

न्यूजीलैंड के अनुभवी तेज गेंदबाज टिम साउथी टी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं, जिन्होंने 123 मैचों में 23.15 की औसत और 8.13 की इकॉनमी रेट से 157 विकेट लिए हैं, जिसमें उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 5/13 रहा है।

 

मुश्किल समय में गेंदबाजों ने पाकिस्तान के खिलाफ धैर्य बनाए रखा : बुमराह

 टी20 विश्व कप में अपने 4 ओवर में मात्र 14 रन पर तीन विकेट लेने वाले भारत के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने पाकिस्तान के खिलाफ गेंदबाजों के प्रदर्शन की सराहना की है। जसप्रीत बुमराह ने अपने चार ओवरों में 14 रन देकर 3 विकेट लिए, जिसमें 15 डॉट बॉल शामिल थे।

पाकिस्तान को सिर्फ 36 गेंदों पर 40 रन चाहिए थे, बुमराह ने अच्छी तरह से सेट मोहम्मद रिजवान को आउट कर भारत की जीत मुमकिन की। इसके बाद 119 रन का पीछा कर रही पाकिस्तान की टीम 7 विकेट पर 113 रन ही बना पाई।

बुमराह ने मैच के बाद कहा, "हमारे लिए सबसे अच्छी बात यह रही कि हम कूल रहे। जब हम सुबह बल्लेबाजी कर रहे थे तो गेंदबाजों को मदद मिल रही थी। लेकिन जब हम गेंदबाजी करने आए, तो गेंद सीम नहीं कर रही थी।

"इसलिए, हमें अधिक स्टेबल और सटीक होना था। हम एक इकाई के रूप में बहुत शांत और स्पष्ट थे कि हम क्या करना चाहते हैं। इसलिए, हम बहुत खुश हैं कि एक टीम के रूप में हम योगदान करने में सक्षम थे और उस दबाव को बनाया और फिर हम जीत हासिल करने में सक्षम हुए।"

पिछले साल बुमराह पीठ की चोट से उबर रहे थे, जिसके कारण वो टी20 विश्व कप 2022 से बाहर थे और घरेलू धरती पर वनडे विश्व कप 2023 में उनके खेलने पर भी संदेह था। लेकिन अब बुमराह अपनी बेहतरीन फॉर्म में हैं और भारत को मैच जिताने में अहम भूमिका निभा रहे हैं।

बुमराह ने हार्दिक पांड्या, मोहम्मद सिराज, अक्षर पटेल और अर्शदीप सिंह की भी तारीफ की, जिन्होंने भारत को पाकिस्तान के खिलाफ जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई।

उन्होंने आगे कहा, "एक गेंदबाजी इकाई के तौर पर हमें अपनी गेंदबाजी पर बहुत गर्व है। हम खुद को बेहतर करने के लिए कड़ी मेहनत करते हैं और जितना हो सके टीम की मदद करने की कोशिश करते हैं। इसलिए हम बहुत खुश हैं कि हम इस मैच में ऐसा करने में सफल रहे।"

बुमराह ने अपनी बात खत्म करते हुए कहा, "एक साल पहले यही लोग कह रहे थे कि मैं शायद दोबारा नहीं खेल पाऊंगा और मेरा करियर खत्म हो जाएगा। लेकिन मैं इस पर गौर नहीं करता। जहां तक मेरा सवाल है, मैं अपनी सर्वश्रेष्ठ क्षमता से गेंदबाजी करने की कोशिश कर रहा हूं। मैं अपने सामने मौजूद समस्या का समाधान और चीजों पर नियंत्रण करने की कोशिश करता हूं।"

 

टी20 विश्व कप: भारत से मिली हार के बाद बाबर ने कहा- हमने बहुत ज्यादा डॉट बॉल खेली

 आईसीसी टी 20 विश्व कप मैच में भारत के खिलाफ छह रन से हार के बाद, पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम ने स्वीकार किया कि उनकी टीम ने पारी के दूसरे भाग में अधिक डॉट बॉल खेली, जिससे शानदार गेंदबाजी के बावजूद उनकी हार हुई।

रविवार को न्यूयॉर्क के नासाऊ काउंटी स्टेडियम में गेंद और बल्ले के बीच रोमांचक मुकाबले में 120 रनों के लक्ष्य का पीछा कर रही पाकिस्तान की टीम एक समय जीत की स्थिति में थी, लेकिन इसके बाद जसप्रीत बुमराह और हार्दिक पांड्या ने अपनी गेंदबाजी से मैच को वापस खींच लिया और भारत को 6 रन से जीत दिला दी।

मैच के बाद बाबर ने कहा, हमने अच्छी गेंदबाजी की। बल्लेबाजी में, हमने लगातार दो विकेट खोए और बहुत सारी डॉट बॉल खेली। रणनीति सामान्य रूप से खेलना आसान था। बस स्ट्राइक रोटेशन और कुछ बाउंड्री। लेकिन उस अवधि में (उनके रन-चेज़ के दूसरे भाग में) हमने बहुत सारी डॉट बॉल खेली। हम टेलएंडर्स से बहुत उम्मीद नहीं कर सकते। हमारा दिमाग बल्लेबाजी में पहले छह ओवरों का उपयोग करने पर था। लेकिन एक विकेट गिरने के बाद, हम फिर से उस चरण में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए। पिच अच्छी दिख रही थी। गेंद अच्छी तरह से आ रही थी। यह थोड़ी धीमी थी, और कुछ गेंदें अतिरिक्त उछाल वाली थीं। हमें आखिरी दो मैच जीतने हैं। बैठकर अपनी गलतियों पर चर्चा करेंगे, लेकिन आखिरी दो मैचों का बेसब्री से इंतजार है।

इस रोमांचक मुकाबले में जीत के बाद भारत दो मैचों में दो जीत और चार अंकों के साथ ग्रुप ए में शीर्ष पर है। पाकिस्तान चौथे स्थान पर है, जिसने अमेरिका और भारत से अपने दोनों मैच हारे हैं। नॉकआउट चरण में उनके पहुंचने की संभावना कम ही दिखती है।

मैच की बात करें तो पाकिस्तान ने टॉस जीतकर भारत को पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया। हालांकि, भारतीय बल्लेबाज इस कठिन सतह पर अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए और स्टार ओपनर विराट कोहली (4) और रोहित शर्मा (13) बड़ा स्कोर बनाने में विफल रहे। ऋषभ पंत (31 गेंदों में 42 रन, छह चौके) एक अलग पिच पर खेल रहे थे और उन्होंने अक्षर पटेल (18 गेंदों में 20 रन, दो चौके और एक छक्का) और सूर्यकुमार यादव (आठ गेंदों में सात रन, एक चौका) के साथ उपयोगी साझेदारियां कीं। हालांकि, ऐसी कठिन पिच पर रन बनाने के दबाव में निचला मध्य क्रम बिखर गया और भारत 19 ओवर में सिर्फ 119 रन ही बना सका।

पाकिस्तान के लिए हारिस राउफ और नसीम शाह ने 3-3, मोहम्मद आमिर ने दो और शाहीन शाह अफरीदी ने एक विकेट लिया।

रन-चेज़ में पाकिस्तान ने ज़्यादा संतुलित रुख अपनाया और मोहम्मद रिज़वान (44 गेंदों में एक चौके और एक छक्के की मदद से 31 रन) ने एक छोर संभाले रखा। हालांकि, बुमराह (3/14) और हार्दिक पांड्या (2/24) ने कप्तान बाबर आज़म (13), फखर जमान (13), शादाब खान (4), इफ्तिखार अहमद (5) के महत्वपूर्ण विकेट भी हासिल किए, जिससे पाकिस्तान पर दबाव बरकरार रहा। अंतिम ओवर में 18 रनों की ज़रूरत के साथ, नसीम शाह (10*) ने पाकिस्तान के लिए जीत की कोशिश की, हालांकि, अर्शदीप सिंह (1/31) ने सुनिश्चित किया कि पाकिस्तान छह रन से पीछे रह जाए। बुमराह ने अपने मैच जीतने वाले स्पेल के लिए 'प्लेयर ऑफ़ द मैच' का पुरस्कार जीता।

 

 

admin

Related Posts

भारतीय टीम के कार्यक्रमों की BCCI ने 2024-25 सत्र के लिए घोषणा, इन टीमों से होगी टक्कर

नई दिल्ली भारतीय टीम सितंबर 2024 से फरवरी 2025 तक अपने घर में खेलेगी। उसका सामना बांग्लादेश, न्यूजीलैंड और इंग्लैंड से होगा। इसको लेकर बीसीसीआई ने पूरा शेड्यूल जारी कर…

हरमप्रीत कौर और उप-कप्तान स्मृति मंधाना ने मिलकर टीम इंडिया को शानदार जीत दिलाई, सीरीज में 2-0 से अजेय बढ़त बना ली

नई दिल्ली भारतीय टीम ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ तीन मैचों की सीरीज में 2-0 से अजेय बढ़त बना ली है। दूसरा वनडे इंटरनेशनल मैच भारत ने चार रनों से…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

धर्म

कलियुग के 10,000 वर्षों के बाद क्या होगा? ब्रह्मवैवर्त पुराण की भविष्यवाणियां

कलियुग के 10,000 वर्षों के बाद क्या होगा? ब्रह्मवैवर्त पुराण की भविष्यवाणियां

आषाढ़ में कब रहेगी गुप्त नवरात्रि, जाने महत्व और पूजा विधि

आषाढ़ में कब रहेगी गुप्त नवरात्रि, जाने महत्व और पूजा विधि

गुरुवार 20 जून 2024 का राशिफल

गुरुवार 20  जून 2024 का राशिफल

जुलाई में इस दिन से शुरू होंगे शुभ मुहूर्त, कर सकेंगे जनेऊ, मुंडन, गृह प्रवेश; सिर्फ 8 दिन बजेगी शहनाई

जुलाई में इस दिन से शुरू होंगे शुभ मुहूर्त, कर सकेंगे जनेऊ, मुंडन, गृह प्रवेश; सिर्फ 8 दिन बजेगी शहनाई

सपने में मृत्यु देखना: क्या है इसका मतलब? जानें विस्तार से

सपने में मृत्यु देखना: क्या है इसका मतलब? जानें विस्तार से

बुधवार 19 जून 2024 का राशिफल

बुधवार 19 जून 2024 का राशिफल